जयललिता के चेहरे पर मौजूद इन चार निशानों का रहस्य गहराया

चेन्नई। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री, एआईडीएमके की मुखिया और देश की एक ताकतवर महिला नेता जयललिता का निधन हो गया। 75 दिन अस्पताल में भर्ती करने के बाद अचानक उनकी तबियत बिगड़ी और दूसरे दिन ही उनकी मौत की खबर मिली। अम्मा की मौत की खबर मिलते ही तमिलनाडु में शोक की लहर दौड़ पड़ी। 

उनके हजारों समर्थक छाती-पीट-पीट कर रोने लगे, लेकिन अब उनकी मौत को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। ट्विटर पर एक फोटो वायरल हो रही है, जिसमें उनके चेहरे पर डॉट्स के निशान दिख रहे हैं। इस तस्वीर के वायरल होते ही लोगों के मन में उनकी मौत को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। 

अम्मा की मौत पर उठे सवाल

लोग सवाल कर रहे हैं कि जो जयललिता 2 महीने तक ठीक थी। अचानक बीमार पड़ी। रात के अंधेरे में उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया। कहा गया कि बुखार की वजह से उन्हें भर्ती कराया गया है और 2 दिनों के भीतर ठीक होकर वो घर लौट जाएंगी, लेकिन वो 75 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहीं और आखिरकार उनकी मौत हो गई। 

दूसरा सवाल

ऐसे कई सवाल हैं जिनके जवाब लोग नहीं ढ़ूढ़ पा रहे हैं। लोगों ने सवाल पूछा है कि 75 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहने के बावजूद किसी को भी उनसे नहीं मिलने दिया गया। किसने लोगों को अम्मा से मिलने से रोका।

तीसरा सवाल

जब डॉक्टरों ने कहा कि अम्मा की तबियत में लगातार सुधार हो रहा है और उन्हें आईसीयू से जनरल वार्ड में शिफ्ट किया गया है तो फिर अचानक उनकी तबियत कैसे बिगड़ गई। अस्पताल में 75 दिनों तक एडमिट रहने के दौरान अम्मा की एक भी तस्वीर क्यों सामने नहीं आई।

चौथा सवाल

क्या अम्मा की तबियत खराब होने की वजह जरुरत से ज्यादा पेन किलर दवाई का इस्तेमाल था। जब उन्हें अपोलों के फीवर और डिहाईड्रेशन यूनिट में भर्ती कराया गया तो आखिर वो हर्ट और कार्डिएक डिसऑर्डर यूनिट में कैसे पहुंच गई? अम्मा को मामूली तकलीफ थी, लेकिन कैसे ये मामूली बीमारी उन्हें मौत से मुंह में ले गई।

पांचवां सवाल

डॉक्टरी रिपोर्ट के मुताबिक अम्मा को 4 दिसंबर को अचानक दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद वो उससे उभर नहीं पाई और उनकी मौत हो गई। लोगों ने अम्मा के गाल के नीचले हिस्से पर 4 निशान देखे हैं, जिसे लेकर उनका शक गहराता जा रहा है। लोगों का कहना है कि अम्मा के शरीर में कुछ कैमिकल डाले जा रहे थे। लोगों को अम्मा की मौत के पीछे साजिश की नजर आ रही है। ट्विटर पर लोगों ने कई सावल खड़े कर दिए हैं। ऐसे में अब पुलिस और एआईडीएमके पार्टी को अम्मा की मौत के पीछे की असली वजह तलाशनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *