पुलिस कप्तान ऋषि कुमार शुक्ला लखपति, अफसर करोड़पति

अमित देशमुख। मप्र पुलिस के मुखिया ऋषि कुमार शुक्ला भले ही लखपति हों, पर उनके महकमे में अधिकतर आईपीएस अधिकारी करोड़पति हैं। डीजीपी ने संपत्ति के नाम पर अपने पास 10 लाख 90 हजार रुपए का एक मकान बताया है, जबकि सबसे ज्यादा संपत्ति एडीजी उज्जैन मधुकुमार (15, जमीन-जायदाद) के पास है। ये जानकारी आईपीएस अफसरों ने वर्ष 2015 में अचल संपत्ति रिटर्न (आईपीआर) में दी है, जो गृह विभाग की वेबसाइट पर भी है।

हालांकि अधिकतर अफसरों ने संपत्ति कब और कितनी कीमत देकर हासिल की इसका जिक्र नहीं किया है, वहीं एडीजी प्रशासन अनुराधा शंकर ने तो दो साल से जानकारी ही नहीं दी है। प्रदेश में कुल 291 आईपीएस अधिकारी हैं और सभी को आईपीआर भरना अनिवार्य है पर 2015 में 103 ने ही इसे भरा। कई जानकारियां भी बेमेल दिखती हैं, जैसे एडीजी महिला अपराध शाखा अरूणा मोहन राव ने 1999 में भोपाल के मेंडोरा गांव में खरीदी गई 8500 वर्गफीट जमीन की वर्तमान कीमत 21 हजार 250 रुपए बताई है।

पिछले तीन सालों में भरे आईपीआर
वर्ष —अफसर जिन्होंने भरे
2015 – 103
2014 – 238
2013 – 154
(नोट : वर्ष 2015 के लिए आईपीआर भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई तक है )

ऋषि कुमार शुक्ला, डीजीपी
– भोपाल के चूना भट्टी में 10 लाख 90 हजार का मकान खरीदा, जिससे सालाना 90 हजार रुपए किराया मिलता है। ग्वालियर में पिता से मिली एक संपत्ति है, पर इसकी ज्यादा जानकारी नहीं दी।

मधुकुमार, एडीजी उज्जैन
– कृषि भूमि, दुकान, फ्लैट और घर सहित कुल 15 संपत्तियां, जिनकी खरीद की कीमत 57 लाख 96 हजार की बताई है। इनमें आंध्रप्रदेश में 10, भोपाल में 3 और महबूबनगर (राज्य या शहर का जिक्र नहीं) में दो संपत्तियां। खुद के नाम पर दो, पत्नी के नाम आठ, बेटियों और मां के नाम पांच संपत्ति है।

वीके सिंह, डीजी जेल
– एक करोड़ 90 लाख का यशोदा कॉलोनी चूनाभट्टी भोपाल और ग्रेटर नोएडा दिल्ली में 90 लाख का मकान।

मैथलीशरण गुप्त, डीजी होमगार्ड
– दानिश कुंज कोलार रोड भोपाल में 2280 वर्गफीट का प्लॉट (अभी कीमत 3 लाख 37 हजार), जो पत्नी के साथ खरीदा। खुद के नाम तीन बीएचके का नोएडा में फ्लैट (46 लाख) और बिसनखेड़ी भोपाल में 0.404 हेक्टेयर अविकसित कृषि भूमि (12 लाख)। पत्नी के नाम 15 लाख रुपए की बिसनखेड़ी में ही 0.582 हेक्टेयर की अविकसित कृषि भूमि और भौरी भोपाल में 11 खसरा नंबर का उल्लेख, जिसकी कीमत 92 लाख 77 हजार 200 रुपए बताई है।

विपिन कुमार माहेश्वरी, एडीजी इंदौर
– दिल्ली में दो संपत्तियां। शालीमार बाग दिल्ली में पत्नी की पैतृक संपत्ति 80 लाख रुपए (मौजूदा कीमत) की। खुद के नाम 60 लाख रुपए की संपत्ति दिल्ली के द्वारका में गोल्ड क्रॉफ्ट कोऑपरेटिव सोसायटी में बताई।

रीना मित्रा, अध्यक्ष पुलिस हाउसिंग
– भुवनेश्वर में अपने नाम 15 लाख का मकान, पर पूरी जानकारी नहीं दी। अपने एक अंकल से 30 लाख रुपए कीमत का 1400 वर्गफीट में बना फ्लैट लीज में लिया है।

अरूणा मोहन राव, एडीजी महिला अपराध शाखा
– तीन जमीनें खुद के नाम पर। दो आंध्रप्रदेश में हैं, जो 1979 व 80 में खरीदी। दोनों जमीने क्रमश 2103.61 वर्गफीट और 2674 वर्गफीट है। जिसकी मौजूदा कीमत 2 लाख 13 हजार व 2 लाख 40 हजार बताई है।

सुधीर कुमार शाही, एडीजी एसटीएफ
– अपना मकान नहीं है। आठ एकड़ की पैतृक जमीन पर बने घर में चार कमरे हैं इससे 68 हजार रुपए की वार्षिक आय परिवार के सदस्यों को होती है। भोपाल में खुद के नाम 23 हजार वर्गफीट की कृषि भूमि वर्ष 1999 में खरीदी, जिसकी आज कीमत 26 लाख 12 हजार 500 रुपए है।

संजीव शमी, एटीएस चीफ
– बागमुगालिया में एक एचआईजी मकान पत्नी के साथ साझेदारी में वर्ष 2004 में खरीदा, आज कीमत 75 लाख है। खुद के नाम पर एक जमीन रसूलिया गुसाई भोपाल में 0.405 हेक्टेयर की दर्शाई है जिसकी मौजूदा कीमत 20 लाख है और दूसरी जमीन गांव फतहपुर भोपाल में 0.20234 हेक्टेयर की होना बताया है जिसकी मौजूदा कीमत 30 लाख रुपए है।

योगेश चौधरी, आईजी भोपाल जोन
– पत्नी के साथ भोजपुर रोड भोपाल में 50 लाख का बंगला (निर्माणाधीन)। इंदौर में 3600 वर्गफीट का 15 लाख 5 हजार का रुपए का प्लॉट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *